यह अभियान अब बंद कर दिया गया है.



क्रायसोटाइल एस्बेस्टस पर तुरंत कार्यवाही के लिए राजेन्द्र के साथ आएं 


राजेन्द्र पेवकर एस्बेस्टोस उद्योग में इस्तेमाल होने वाले घातक एस्बेस्टस रेशे का एक शिकार है। उनके पिता एक एस्बेस्टस कंपनी में काम करते थे एवं काम की वजह से उनके कपड़ों पर लगे एस्बेस्टस के रेशों की वजह से वह और उनकी मां दोनों एस्बेस्टस संबंधी रोग से पीड़ित हैं। एस्बेस्टस रेशों से संबंधित बीमारी से सालाना 107,000 मरने वाले लोगों की तरफ से राजेंद्र बात करेंगे। मई में, जिनेवा में रॉटरडैम कन्वेंशन की बैठक होगी और राजेन्द्र उन देशों के प्रतिनिधियों का सामना करेंगे, जो प्रतिबंधित और खतरनाक रसायनों की सूची में शामिल होने से एस्बेस्टस को रोक रहे हैं।
 
पिछले दस सालों से रॉटरडैम कन्वेंशन में सूचीबद्ध कर क्रायसोटाइल एस्बेस्टस के व्यापार को प्रतिबंधित करने के लिए सिफारिश की जा रही है। परंतु कुछ देश जो इस रेशे से फायदा प्राप्त करते हैं उनके द्वारा इस प्रक्रिया में रोक लगा दी जाती हैं. इस समस्या पर काबू पाने के लिए, 12 अफ्रीकी देशों के एक समूह ने मतदान प्रणाली में संशोधन प्रस्तावित किया है। इस संशोधन में आम सहमति के अभाव में 75% बहुमत से मतदान करने की विधि को इस्तेमाल करने की मांग की गई है। इससे खतरनाक रसायनों को सूचीबद्ध किया जा सकेगा जिनकी प्रक्रिया को अभी वीटो लगा कर रोका जा रहा हैं। संशोधन, बेसल और स्टॉकहोम कन्वेंशन जैसे अन्य सम्मेलनों के साथ मतदान प्रक्रिया को एक समान करेगा।
 
ट्रेड यूनियन और दुनिया भर में एस्बेस्टोस पर प्रतिबंद चाहने वाले नेटवर्क राजेंद्र के साथ खड़े हैं। हम जिनेवा में आने वाले सभी प्रतिनिधियोंदो से दो विषययों पर कार्रवाई करने के लिए कहते हैं।पहला, प्रतिनिधियों को मतदान प्रणाली को बदलने के लिए संशोधन का समर्थन करना चाहिए।दूसरा, प्रतिनिधियों को क्रायसोटाइल (सफ़ेद) एस्बेस्टोस की सूची में शामिल करने का समर्थन करना चाहिए - एस्बेस्टस व्यापार को सीमित करने के लिए एक महत्वपूर्ण कदम !




आपका संदेश निम्नलिखित ईमेल पते पर भेजा जाएगा:
Franz.Perrez@bafu.admin.ch, juergen.helbig@ec.europa.eu, ptccb@guyana.net.gy, silvija.kalnins@varam.gov.lv, hematyar22@gmail.com, caroltheka@yahoo.com